रोनी स्क्रूवाला

Ronnie Screwvala Biography in Hindi
Ronnie_Screwvala
स्रोत: bollywoodhungama.com [CC BY 3.0 (http://creativecommons.org/licenses/by/3.0)], via Wikimedia Commons

जन्म: 8 जून 1956, मुंबई

व्यवसाय/कार्य/पद: यूटीवी ग्रुप के पूर्व सीईओ

रोनी स्क्रूवाला यूटीवी मीडिया समूह के संस्थापक और पूर्व सीईओ हैं। टेलीविजन की दुनिया में रोनी स्क्रूवाला का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं हैं। उन्होंने अपने कॅरियर की शुरूआत केबल नेटवर्क के साथ किया। इसके बाद उन्होंने टीवी सीरियल के निर्माण में कदम रखा और फिर फिल्म प्रोडक्शन और डिस्ट्रीब्यूशन से भी जुड़ गए। रोनी ने मनोरंजक प्रधान और अलग तरह की फिल्में चुनी और नए दौर की फिल्मों में अहम भूमिका निभाने के साथ विश्व सिनेमा बाजार में भी एक अलग स्थान प्राप्त किया। एक केबल ऑपरेटर से मीडिया दिग्गज बनने का सफ़र आसान नहीं था। सफलता के इस शिखर पर पहुंचने और मनोरंजन उद्योग में जीवित रहने के लिए उन्होंने कई कठिनाईयों का सामना किया। फिल्म निर्माण के दिशा में उन्होंने आधुनिक कॉर्पोरेट स्टूडियो दृष्टिकोण अपनाया जिसने उन्हें धीरे-धीरे सफलता के नयी ऊँचाइयों पर पहुंचा दिया। अच्छी विषय वाली फिल्मों को बनाकर उनके प्रोडक्शन हाउस ने भारतीय और वैश्विक बाजार में अपने लिए ख़ास जगह बना ली। उसके बाद रोनी ने अंतरराष्ट्रीय मीडिया दिग्गजों जैसे वॉल्ट डिज्नी, फॉक्स सर्चलाइट, सोनी और ओवरब्रुक एंटरटेनमेंट के साथ भागीदारी किया जो उनके प्रोडक्शन हाउस को नयी ऊँचाइयों तक ले जाने और उसके अंतरराष्ट्रीय पहुंच का विस्तार करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम था।

प्रारंभिक जीवन

रोनी स्क्रूवाला  का जन्म 8 जून 1956 को मुंबई के एक पारसी परिवार में हुआ। उनके पिता ब्रिटिश फर्म ‘जेएल मोर्रिसन एंड स्मिथ एंड नेफ्यू’ में एक एग्जीक्यूटिव के तौर पर कार्य करते थे। स्क्रूवाला  ने कैथेड्रल एंड जॉन कोनन स्कूल और स्य्देन्हम कॉलेज से शिक्षा ग्रहण की। स्कूल और कॉलेज के दिनों में स्क्रूवाला को थिएटर से काफी लगाव था और उन्होंने बॉम्बे थिएटर के कुछ प्रसिद्द हस्तियों जैसे पर्ल और अलेक पदमसी के साथ नाटकों में काम किया।

कैरियर

रोनी स्क्रूवाला ने अपने कैरियर की शुरुआत वर्ष 1981 में मुंबई में एक केबल टीवी नेटवर्किंग कंपनी की स्थापना करके किया। इस केबल सेवा के माध्यम से फिल्मों को तीन घंटे तक निर्बाध देखा जा सकता था। यहसेवा मात्र 200 रुपये के मासिक शुल्क पर मुंबई के कफ परेड, जो एक संपन्न इलाका माना जाता है, स्थित घरों तक ही सीमित था। एक छोटी सी अवधि में ही यह सेवा बहुत लोकप्रिय हो गयी और क्षेत्र के निवासियों में इसकी मांग लगातार बढती गई। इस उद्यम ने रोनी को भविष्य के व्यवसायों के लिए पर्याप्त पूंजी प्रदान की। जल्द ही रोनी की कंपनीविज्ञापन और फ़िल्मों का निर्माण करने लगी और भारत के एकमात्र राष्ट्रीय नेटवर्क दूरदर्शन पर एयरटाइम की बिक्री करने लगी। इसके बाद रोनी टीवी धारावाहिकों के निर्माण के क्षेत्र में कूद गए और’लाइफलाइन’और’शांति’जैसे लोकप्रिय टीवी सीरीज दर्शकों के सामने लाये। वर्ष 1990 में उन्होंनेयूटीवी सॉफ्टवेयर कम्युनिकेशंस की स्थापना की। यह कंपनी फिल्मों, टीवी के कार्यक्रमों और वेब कंटेंट के उत्पादन और वितरण के काम में जुट गयी।यह प्रोडक्शन हाउस वर्ष1996 मेंफिल्म वितरण पर अपना ध्यान केंद्रित करने लगा और एक वर्ष बाद अपनी पहली गति फिल्म “दिल केझरोखे में” का प्रोडक्शन   किया। इसके बाद,रोनी ने टेलीविजन प्रसारण के क्षेत्र में प्रवेश करने का फैसला किया और बच्चों के टीवी चैनल ‘हंगामा’ का शुभारंभ किया। यहचैनल जापानी एनिमेटेड शो और अन्य क्षेत्रीय भाषाओँ के शोज दिखाता  है। यह एक अच्चा कदम साबित हुआ और यूटीवी ने डिज्नी और टाइम वार्नर जैसे प्रसिद्द चैनल्स को पीछे ढकेल दिया। इसके बाद रोनी ने कई नए टीवी चैनल्स जैसे यूटीवी बिंदास, यूटीवी एक्शन, यूटीवी वर्ल्ड मूवीज और यूटीवी मूवीज की शुरुआत की। वर्ष 2007 में उनकी कंपनी गेमिंग सॉफ्टवेयर और कंटेंट के निर्माण में भी घुस गयी।

सितंबर 2008 में एस्क्वायर ने स्क्रूवाला को 21वीं सदी के दुनिया के सबसे 75 प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया। वर्ष 2009 में, दुनिया की सबसे जानी-मानी मैगजीन टाइम के 100 प्रभावशाली लोगों की सूची में वो 78वें नंबर पर रह चुके हैं।

यूटीवी का अधिग्रहण

वर्ष 2012 में वाल्ट डिज्नी ने यूटीवी का अधिग्रहण कर लिया पर रोनी ‘वाल्ट डिज्नी कंपनी इंडिया’ के मैनेजिंग डायरेक्टर बने रहे। अक्टूबर 2013 में उन्होंने कंपनी की बागडोर सिद्धार्थ रॉय कपूर के हाथ में सौंप दी और कंपनी से अलग हो गए। इसके साथ वो मीडिया और मनोरंजन के क्षेत्र से भी अलग हो गए। वर्तमान में रोनी समाज सेवा और निवेश के क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। वो कई इ-कॉमर्स कंपनियों के साथ भी जुड़े हैं। उनमें प्रमुख हैं zivame.com और lenskart.com।

यू मुम्बा

वर्ष 2007 में रोनी ‘प्रो कबड्डी लीग’ के यू मुम्बा’ टीम के मालिक बन गए। प्रतियोगिता के पहले संस्करण में ये टीम उप-विजेता रही थी।

व्यक्तिगत जीवन

रोनी का विवाह ज़रीना से हुआ है जो यूटीवी की सह-संस्थापक और एक एग्जीक्यूटिव हैं। जरीना उनकी दूसरी पत्नी हैं। स्क्रूवाला दंपति मुंबई के संभ्रांत ब्रीच कैंडी इलाके में रहते हैं।

रोनी स्क्रूवाला ढेर सारी फ़िल्मों के निर्माता अथवा सह-निर्माता रहे हैं जिनकी सूची इस प्रकार है:

वर्ष फिल्म का शीर्षक वर्ष फिल्म का शीर्षक
1997 दिल के झरोके में 2009 मैं और मिसेज खन्ना
2000 फ़िज़ा 2010 चांस पे डांस
2004 लक्ष्य 2010 पीपली लाइव
2004 स्वदेश 2010 हूक या क्रूक
2005 डी 2010 उड़ान
2005 मैं मेरी पत्नी और वो 2010 आई हेट लव स्टोरी
2005 द ब्लू अम्ब्रेला 2010 फ़िल्म सिटी
2006 रंग दे बसंती 2010 पान सिंह तोमर
2006 चुप चुप के 2010 गुज़ारिश
2006 द नेमसेक 2010 तीसमार खां
2006 खोसला का घोसला 2011 नो वन किल्ड जेसिका
2007 आय थिंक आय लव माय वाइफ 2011 ७ खून माफ़
2007 हैट्रिक 2011 थैंक यू
2007 लाइफ़ इन ए मेट्रो 2011 देली बेली
2007 दन दना दन गोल 2011 चिल्लर पार्टी
2008 फिर कभी 2011 दिवा थिरुमगल
2008 जोधा अकबर 2011 मुरन
2008 आमिर 2011 माई फ़्रेण्ड पिंटो
2008 द हैपनिंग 2012 वज़ुक्कु एन्न
2008 ए वेडनसडे 2012 ग्राण्डमास्टर
2008 पोई सोल्ला पोरोम 2012 अर्जुन: द वर्रियर प्रिंस
2008 वेल्कम टू सज्जनपुर 2012 रावड़ी राठौर
2008 फ़ैशन 2012 मुगमूड़ी
2008 ओए लक्की! लक्की ओए! 2012 बर्फी!
2009 देव-डी 2012 हीरोइन
2009 दिल्ली ६ 2012 हजबैण्ड्स इन गोवा
2009 ढूंढते रह जाओगे 2012 थांडावम
2009 एक्स टर्मिनेटर्स 2013 एबीसीडी (एनी बॉडी कैन डांस)
2009 हरिश्‍चंद्राची फॅक्टरी 2013 काय पो छे!
2009 अज्ञात: द अननोन 2013 हिम्मतवाला
2009 कमीने 2013 सेत्तई
2009 आगे से राईट 2013 घनचक्कर
2009 वॉट्स यॉर राशी? 2013 चेन्नई एक्सप्रेस

टाइमलाइन (जीवन घटनाक्रम)

1956: मुंबई में पैदा हुए

1981: एक स्थानीय केबल ऑपरेटर के रूप में अपना कैरियर शुरू किया

1990: यूटीवी सॉफ्टवेयर कम्युनिकेशंस स्थापित किया

1994: टेलीविजन धारावाहिक निर्माण के क्षेत्र में उतरे

1996: फिल्म निर्माण में कदम रखा

2005: उनकी कंपनी शेयर बाजार में लिस्ट हुई

2004: उनके बच्चों के चैनल ‘हंगामा’ ने डिज्नी और टाइम वार्नर जैसे अन्य बच्चों के चैनलों के ऊपर नंबर एक स्थान अर्जित किया

2007: उनकी कंपनी ने भी वीडियो गेमिंग के क्षेत्र में कदम रखा